राष्ट्रवाद और सेना के नाम पर कुछ भी ठेले जाओगे क्या?भुज और शेरशाह टिप्पणियां!

 सुरेश  चिपलूनकर भुज द कूड़ा कल रात बड़ी उम्मीदों से “भुज” फिल्म देखी.शुरुआती आधे घंटे में ही फिल्म “”अन-झेलेबल” हो चुकी

Read more

नसीरुद्दीन शाह :कभी कभी किसी एक नाम में ही इतना वज़न होता है की आगे कुछ भी लिखने की ज़रूरत नहीं होती!

By– Faiyaz Siddiauie कभी कभी किसी एक नाम में ही इतना वज़न होता है की आगे कुछ भी लिखने की

Read more

फिल्‍म समीक्षा : एम एस धौनी-द अनटोल्‍ड स्‍टोरी

सक्रिय और सफल क्रिकेटर महेन्‍द्र सिंह धौनी के जीवन पर बनी यह बॉयोपिक 2011 के वर्ल्‍ड कप तक आकर समाप्‍त

Read more

फिल्‍म समीक्षा : हैप्‍पी भाग जाएगी

मुदस्‍सर अजीज की फिल्‍म ‘हैप्‍पी भाग जाएगी’ हैप्‍पी रखती है। उन्‍होंने भारत-पाकिस्‍तान के आर-पार रोचक कहानी बुनी है। निर्माता आनंद

Read more