अफ़ग़ानिस्तान को क्यों कहते हैं ‘साम्राज्यों की कब्रगाह’?

By- नॉरबेर्टो परेडेस अफ़ग़ानिस्तान में ऐसा क्या है जो इसे पूरी दुनिया में ‘साम्राज्यों की कब्रगाह’ के रूप में जाना

Read more

उदारता पर कट्टरता की जीत मनुष्य के लिए घातक है !

By- सुयश मिश्रा व्यक्तिगत-स्वतंत्रता और सामाजिक-अनुशासन का नियंत्रण सतही स्तर पर दो परस्पर विरोधी विषय लगते हैं किंतु जीवनमें इन

Read more

सरकार ने सुप्रीम कोर्ट के सामने स्वीकार किया कि पेगासस का उपयोग किया गया: पी. चिदंबरम

By-  द वायर स्टाफ नई दिल्ली: कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी. चिदंबरम ने उच्चतम न्यायालय की ओर से कथित पेगासस जासूसी

Read more

अमेरिका के कहने पर पाकिस्तान ने बरादर को छोड़ा,बदल दी अफगानिस्तान की बाजी?

BY- प्रियेश मिश्र  अफगानिस्तान में तालिबान के कब्जे के बाद एक व्यक्ति जिसकी सबसे ज्यादा चर्चा हो रही है, वह

Read more

शाहरुख खान के नाना ने पहली बार आजाद भारत में लाल किले पर तिरंगा लहराया, जानिए कौन थे जनरल शाहनवाज़ खान?

आज़ाद भारत के लिए सैकड़ों हज़ारों लोगों ने अपने जान की आहुति दी है। तब जा कर आज आन बान

Read more

राष्ट्रवाद और सेना के नाम पर कुछ भी ठेले जाओगे क्या?भुज और शेरशाह टिप्पणियां!

 सुरेश  चिपलूनकर भुज द कूड़ा कल रात बड़ी उम्मीदों से “भुज” फिल्म देखी.शुरुआती आधे घंटे में ही फिल्म “”अन-झेलेबल” हो चुकी

Read more

जवाहरलाल नेहरू और मोहम्मद अली जिन्ना में आख़िर दूरी क्यों पनप गई थी?:

By- रेहान फ़ज़ल मोहम्मद अली जिन्ना और जवाहरलाल नेहरू दोनों की शख़्सियत अंग्रेज़ीदां थी. दोनों ने लंदन से बैरिस्टर की

Read more